菜单

社会渠道

搜索存档


附加选项
主题

日期范围

收到每日或每周最重要文章的摘要直接到你的收件箱,只需在下面输入你的电子邮件。通过输入您的电子邮件地址,您同意您的数据将按照我们的隐私政策

背景图片:robertharding / Alamy Stock Photo。
TRANSLATIONS
2019年3月22日11:21

द कार्बन ब्रीफ़ प्रोफ़ाइल: भारत

乔斯林Timperley

乔斯林Timperley

22.03.2019 |11:21 AM
翻译 द कार्बन ब्रीफ़ प्रोफ़ाइल: भारत

इसकड़ीकेपांचवेंलेखमेंबतानेकीकोशिशकीगईहैकिकार्बनगैसकाबड़ेपैमानेपरउत्सर्जनकरनेवालेदेशकिसतरहसेजलवायुपरिवर्तनसेनिपटनेकीतैयारीकररहेहैंइसबारकार्बनब्रीफ़नेनज़रडालीहैभारतकेमुख्यनीतिगतविकासइससे संबंधित किए गए तमाम प्रणों और आंकड़ों पर…

必威手机官网碳简报的国家概况系列

चीनऔरअमेरिकाकेबादभारतग्रीनहाउसगैस(温室气体)काउत्सर्जनकरनेवालाविश्वकातीसरासबसेबड़ादेशहै。

कोयलेसेचलनेवालेपावरप्लांट्स,चावलकीखेतीऔरपशुइसउत्सर्जनकेसबसेबड़ेकारकहैंऔरइसमेंतेज़ीसेबढ़ोत्तरीजारीहै。ग़ौरतलबहैकिबावजूदइसकेअगरविश्वकेऔसतसेतुलनाकीजाएतोभारतकाप्रतिव्यक्तिउत्सर्जनऔसतकाफ़ीकमहै。

जलवायुपरिवर्तनकेमामलेमेंभारतएकबेहदसंवेदनशीलदेशहैऔरइसकीमुख्यवजहहिमालयकेग्लेशियरकापिघलनाऔरमॉनसूनमेंलगातारहोनेवालाबदलावहै。

उल्लेखनीयहैकिभारतने2005कीतुलनामेंअपनीअर्थव्यवस्थामें”उत्सर्जनकीतीव्रता”को30से35%तककमकरनेकाप्रणलियाहै。

भारतमेंइससालअप्रैलऔरमईमहीनेमेंआमचुनावहोनेवालेहैंऔरचुनावपूर्वकिएगएसर्वेकेआधारपरअनुमानलगायाजारहाहैकिमौजूदाप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीमामूलीअंतरसेएकबारफिरसेप्रधानमंत्रीबननेसकतेहैं。

राजनीति

भारतभारतसबसेज़्यादाआबादीवालावालादुनियादूसरादेश,जिसकीजिसकी1.3बिलियनयानि130करोड़है。सकलघरेलूउत्पाद(जीडीपी)केमानकोंकेआधारपरदुनियाकीछठीसबसेअर्थव्यवस्थाहैइसकाइसकायूकेयूकेकेबादआताआताआताग़ौरतलबहैकिकिभारतविश्वविश्वसबसेतेजीसे​​आगेआगेबढ़नेवालीअर्थव्यवस्थाअर्थव्यवस्थाचीनकोपीछेछोड़तेहुएभारत2025तकदुनियाकासबसेअधिकआबादीदेशबनजाएगाऔर2060तकइसकीआबादी1.7बिलियनयानि170करोड़होजाएगी。

नरेंद्रमोदीको2014मेंपहलीबारभारतकाप्रधानमंत्रीबननेकामौकामिला。हिंदूराष्ट्रवादीकहलाईजानेवालीभारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)कोसंसदीयचुनावोंमेंपहलीबारबहुमतहासिलहुआऔरपिछले30सालोंमेंऐसाकरनेवालीवोपहलीपार्टीसाबितहुई。बीजेपीनेकुल31%वोटऔर52%सीटेंहासिलकींतोवहींआज़ादीके72सालोंमेंकईबारसत्ताकास्वादचखचुकीइंडियननैशनलकांग्रेस(आईएनसी)कोमहज़19%वोटऔर8%सीटेंहासिलहुईं。

मोदीनेअंतर्राष्ट्रीयजलवायुपरिवर्तनसंबंधीराजनीतिकेमामलेमेंभारतकोहमेशासेएकज़िम्मेदारदेशकेरूपमेंपेशकियाहै。2018年मेंमोदीनेदुनियाकेतमामनेताओंसेकहाथाकिजलवायुपरिवर्तन”जैसाकिहमसभीजानतेहैं,येमानवजातिऔरमानवसभ्यताकेबचेरहनेकेलिएहमारेसामनेखड़ीएकबड़ीचुनौतीहै。”

00इनचुनावोंमेंतकरीबन900मिलियनयानि90करोड़मतदातावोटडालडालसकेंगे。इनइनचुनावकेनतीजोंनतीजोंकाअनुमानबेहदमुश्क़िलकामकामलगानाबेहदमुश्क़िलकामहालांकिहालांकिफ़रवरीफ़रवरीमेंकराएगएओपिनियनकेमुताबिकमुताबिकहासिलकीकीपार्टीकोबहुमतबहुमतकरनेतकपार्टीबीजेपीहासिलहोहोहासिलतककीकीसीटेंसीटेंहोहोअनुमानलगायाजारहाहैकिपूर्वप्रधानमंत्रीराजीवगांधीकेबेटे,पूर्वप्रधानमंत्रीइंदिरागांधीकेपोतेऔरपूर्वप्रधानमंत्रीजवाहरलालनेहरूकेपड़पोतेराहुलगांधीकीपार्टीकांग्रेसइनचुनावोंमेंदूसरेनंबरपरआएगी。

总理莫迪与法国总统伊曼纽尔·万安在海得拉巴家,共同主持的国际太阳能联盟(ISA)的成立大会。2018年3月10日,印度新德里。图片来源:Newscom / Alamy Stock Photo。M7BAF1

总理莫迪与法国总统伊曼纽尔·万安在海得拉巴家,共同主持的国际太阳能联盟(ISA)的成立大会。
2018年3月10日,印度新德里。图片来源:Newscom / Alamy Stock Photo。

1949年मेंलागूकिएगएभारतीयसंविधानकेअनुसार,राज्यपर्यावरणकीरक्षाऔरउसेऔरबेहतरबनानेकीदिशामेंतमामतरहकेप्रयत्नकरेगाऔरदेशकेवनोंववन्यजीवोंकीसुरक्षाकरेगा。2006年मेंबनाईगईभारतकीराष्ट्रीयपर्यावरणनीतिमेंपर्यावरणकीरक्षाकोविकासकीप्रकियामेंसमाहितकरनेकीबातकोरेखांकितकियागयाहै。

2002年में,भारतनेनईदिल्लीमेंUNFCCC(यूनाइटेडनेशन्सफ़्रेमवर्ककंवेंशनऑनक्लामेटचेंज)सेसंबंधितआठवेंआधिकारिकबैठककाआयोजनऔरउसकीअगुवाईकीथी。इसमीटिंगमेंदिल्लीमिनिस्ट्रियलघोषणापत्रकोअपनायागयाथा。इसमेंविकसितदेशोंसेटेक्नोलॉजीकोट्रांसफ़रकरनेकीअपीलकीगईथी,जिससेविकासशीलदेशोंकोउत्सर्जनमेंकमीलानेऔरख़ुदकोजलवायुपरिवर्तनकेमुताबिकढालनेमेंउसेमददमिले。इसमामलेमेंभारतअपनीमहत्वाकांक्षाओंऔरसमानअवसरोंकोलेकरभीकाफ़ीसजगऔरचिंतिंतरहाहै。

येप्रतिशतसर्वेसर्वेमेंशामिलशामिलगएसभीएशियाईदेशोंदेशोंमेंसर्वाधिकसर्वाधिक2017年मेंकिएगएएकऔरसेयेबातसामनेआईकि47%भारतीयजलवायुपरिवर्तनकोअपनेकेलिएलिएलिएलिएलिएमानतेमानतेमानते。00

भारतकीतकरीबन13%आबादीतकअबभीबिजलीनहींपहुंचपाईहै,जबकिदेशकीआधीआबादीअभीभीखानापकानेकेलिएबायोमास(गोबर,लकड़ीआदि)परनिर्भरकरतीहै。मोदीनेबार——बारकहाहैकिवोसुनिश्चितकरेंगेकिसभीघरोंमेंबिजलीपहुंचे。उन्होंनेकहाथाकिमार्च,2019सभीघरोंमेंबिजलीपहुंचनेकीसंभावनाहै。हालांकिअभीभीज़्यादातरलोगोंतकज़रूरतकेमुताबिकबिजलीनहींपहुंचपातीहै。

पेरिसप्लेज़(प्रण)

अंतरराष्ट्रीयजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधितबातचीतऔरसमझौतेकोलेकरभारतकाशुमारचारदेशोंमेंहोताहैजिसेBASICकेनामसेबुलायाजाताहै。इसमेंब्राज़ील,दक्षिणअफ़्रीकाऔरचीनजैसीउभरतीआर्थिकशक्तियों;समानविचारोंवालेविकासशीलदेशों(LMDC);G77 +चीन;औरवनआवरण(रेनफॉरेस्ट)केगठबंधनवालेदेशों(雨林国家联盟)काशुमारहै。

पोट्सडैमपोट्सडैमइंस्टिट्यूटफॉरक्लाइमेटइम्पैक्टइम्पैक्ट(PIK)द्वाराएकत्रितकिएगएडाटाकेमुताबिक,2015मेंमेंभारतद्वाराकीगगghgउत्सर्जनकीमात्रा3,571मीट्रिकटनथी,जोco2केसमान(mtco2e)थी。1970年केकेमुक़ाबलेउत्सर्जनकीमात्राअबतीनगुनाबढ़चुकी

2015年मेंभारतमेंप्रतिव्यक्तिउत्सर्जनकीमात्रा2.7 tco2eथीजोअमेरिकासेसातगुनाकमऔरदुनियाकेऔसत7.0 tco2eसेआधीथी(इसलेखकेअंतमें2015केडाटाकेइस्तेमालपर“图注”देखें)。

भारतने2अक्तूबर,2016कोपेरिससमझौतेपरऔपचारिकरूपसेहस्ताक्षरकिएथे。ऐसाउसनेपेरिसजलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणलेनेअथवा”राष्ट्रीयनिर्धारितयोगदान”(NDC)केलिएहामीभरनेकेलगभगएकसालबादकियाथा。

इसप्रणकेमुताबिक,2005कीतुलनामें2030तकआर्थिकआउटपुट(उत्सर्जनकीतीव्रता)सेसंबंधितप्रतियूनिटउत्सर्जनमें33 - 35%तककीकमीकीजाएगी。कार्बनब्रीफ़केआंकलनकेअनुसार,2014से2030केबीचभारतकीतरफ़सेकिएजानेवालेउत्सर्जनकीमात्रामें90%कीबढ़ोत्तरीहोगी。अगरसबकुछप्रणकेमुताबिकहुआतोभीउत्सर्जनमेंइसकदरबढ़ोत्तरीदेखीजासकतीहै。

भारतकाएकऔरलक्ष्यहैकि2030तकअपनेइंस्टॉलकिएगए40%बिजलीक्षमताकोअक्षयऊर्जाअथवापरमाणुऊर्जामेंतब्दीलकरनेकाहै。

इसकेअतिरिक्त,भारतने2030तकअतिरिक्तकार्बनसिंककेनिर्माणकेलिएवृक्षआवरणकोभी2,500-3,000MtCO2eतकबढ़ानेकालक्ष्यरखाहै。इनकीसंख्याएकसालमेंकिएजानेवालेकुलउत्सर्जनकेबराबरहोगी。

इसप्रणकेमुताबिक,भारतकालक्ष्यमौजूदापरिस्थितियोंकोदेखतेहुएबेहदमहत्वाकांक्षीहोनेकाआभासकराताहैऔरग्लोबलवार्मिंगकेप्रतिविकसितदेशोंकेउदासीनऔरउपेक्षापूर्णरवैयेकीआलोचनाकरताहै。प्रणकेअनुसार,“भारतसमस्याकीवजहनहींहै,इसकेबावजू्दभीवहसक्रियतौरपररचनात्मकहिस्सेदारीकेजरिएसमाधानढूंढनेवालादेशरहाहै。”

भारतनेसाफ़करदियाहैकिउसकेद्वारालिएप्रणकोलागूकरनाजलवायुपरिवर्तनसेजुड़ीआर्थिकटेक्नोलॉजीट्रांसफ़रऔरविकसितदेशोंद्वाराक्षमताकेनिर्माणसेसंबंधितसहयोगपरनिर्भरकरेगी。कुलमिलाकरउसकाअनुमानहैकिउसे2030तकघरेलूऔरअंतर्राष्ट्रीयस्तरपरकमसेकम2.5ट्रिलियनडॉलरकीआवश्यकतापड़ेगी。

पेरिससमझौतेके2 cलक्ष्यकेप्रतिभारतकेNDCमेंनिरंतरतारहीहै,मगरक्लाइमेटएक्शनट्रैकर(猫),तीनशोधसंस्थानोंद्वाराजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधितप्रणपरस्वतंत्ररूपसेकिएगएविश्लेषणसेयेबातसामनेआईहैकि1.5摄氏度लिमिटकोलेकरभारतकीओरसेनिरंतरताकाअभावरहाहै。हालांकि猫काकहनाहैकिउच्चस्तरपरभारतकीनीतियां1.5摄氏度केअनुकूलहै。

CATकेमुताबिक,अपनेआखिरीराष्ट्रीयबिजलीयोजनायानिनैशनलइलेक्ट्रीसिटीप्लान(NEP)कोअपनानेकेबादभारतअबपेरिससमझौतेकेअपनेलक्ष्यसेआगेनिकलनेकीराहपरहै。

CATकाकहनाहैकिहाइड्रोइलेक्ट्रिसिटीऔरपरमाणुऊर्जाकेइस्तेमालसेभारतअपने40%गैरजीवाश्मऊर्जाक्षमताकेलक्ष्यकोएकदशकपहलेहीहासिलकरसकताहै。CATकाअनुमानहैकि2030मेंभारतकीउत्सर्जनतीव्रता2005केमुक़ाबले50%कमहोगी,जोकि33-35%केलक्ष्यसेकहींआगेहोगी。

来自印度廷丁纳普特的一位“赤脚”太阳能工程师将她的技术传授给其他村民,教他们如何制作太阳能灯。资料来源:艾比·特雷勒-史密斯/帕诺斯电影公司/国际发展部。(CC BY-NC-ND 2.0)

来自印度廷丁纳普特的一位“赤脚”太阳能工程师将她的技术传授给其他村民,教他们如何制作太阳能灯。资料来源:艾比·特雷勒-史密斯/帕诺斯电影公司/国际发展部。(CC BY-NC-ND 2.0)

जलवायुपरिवर्तनसेसंबंधितमहत्वाकांक्षीबदलावकीयोजनारखनेवालीएकशोधऔरएनजीओपार्टनरशिपक्लाइमेटचेंजनेभारतसेसंबंधितअपनेविश्लेषणमेंज़्यादाख़ुशनुमांतस्वीरनहींउकेरीहै。उसकेमुताबिकभारतकाNDCतापमान2Cतकसीमितरखनेकेलिएअनुकूलहै,मगरउसकीमौजूदा(2018)योजनाएंइनउम्मीदोंपरखरीनहींउतरतीहैं。

猫केअनुसार,भारतसरकार2030सेलेकर2045तककीएकलम्बीअवधिकीविकाससेसंबंधितरणनीतिपरकामकररहीहै,जोकार्बनउत्सर्जनऔरआर्थिकविकासको”डिकपल”यानिअलगकरदेगा。भारतनेइसबातकेसंकेतदिएहैंकिवह2020तकजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधितअपनेप्रणमेंऔरवृद्धिकरेगा。हालांकिउसनेअभीतकपेरिससमझौतेकेलक्ष्योंकोघरेलूकानूनमेंतब्दीलनहींकियाहै。

भारतने2008मेंनैशनलएक्शनप्लानऑनक्लाइमेटचेंज(NAPCC)सेसंबंधितअपनीरिपोर्टप्रकाशितकीथी。इसेउत्सर्जनमेंकमीलानेऔरअनुकूलनीतिसेसंबंधितआठमिशनमेंविभाजितकियागयाहै。इससभीआठआयामोंकोनिम्निलिखितसामायिकसेक्शनमेंरेखांकितकियागयाहै。

भारतीयराज्योंकोअपनीओरसेस्टेटक्लाइमेटएक्शनप्लानभीपेशकिएजानेकीज़रूरतहै。इनमेंउत्सर्जनमेंकमीलानेसेसंबंधितवायदे,ई——मोबिलिटीअथवासौरवपवनऊर्जाक्षमताकोटाकाशुमारहै。

कोयला

2015年में,भारतनेकोयलेकीखपतकेमामलेमेंअमेरिकाकोपीछेछोड़दियाथाऔरकोयलेकीसबसेअधिकखपतकरनेवालादुनियाकादूसरासबसेबड़ादेशबनगया。कोयलेकीसबसेज़्यादाखपतकेमामलेमेंचीनसबसेअग्रणीदेशहै。

फिरभीये2014कीकीस्थितिसेकमहीरहनेवालारहनेवालारहनेवाला。

कोयलेकीवजहसेभारतमेंबिजलीकेइस्तेमालमेंबहुततेज़ीआईहै。2000年सेभारतकेकोयलाउत्पादनमेंतीनगुनातककीवृद्धिहुईहै。2017年मेंभारतमें80%बिजलीकाउत्पादनकोयलेकेइस्तेमालसेहुआ。नीचेपेशकिएचार्ट(कालीजगहों)मेंइसदर्शायागयाहै।

发电在印度燃料,1985至2017年(太瓦小时)。来源:世界能源2018年BP统计评论必威体育在线注册.图表由Carbon必威手机官网 Brief使用Highcharts

1985年भारतमेंसेलेकर2017(टेरावाटघंटे)तकबिजलीउत्पादन。स्त्रोत:बीपीस्टैटिस्टिकलरीव्यूऑफ़वर्ल्डएनर्जी2018。हाईचार्ट्सकेज़रिएचार्टकानिर्माणकार्बनब्रीफ़नेकियाहै。

जनवरी2019तकतकभारतके221गिगावाट्स(gw)केसुचारूकोयलाप्लांटथे。ग्लोबलग्लोबलकोलप्लांटट्रैकरके,येदुनियाकातीसरासबसेबड़ाफ़्लीटहैजोदुनियाक्षमताकाकाकाकाका11%है。इसकेअतिरिक्त,36gwकानिर्माणकियाजाहैऔर58gwविकासकेशुरुआतीमेंहै。नएप्लांटलगानेकीक्षमतामेंतेज़ीसेकमीआरहीहै。

सरकारीअनुमानकेमुताबिक,2027तककोयलेकीक्षमताबढकर238gwहोजाएगी。इसकेपहलेकेnepड्राफ़्टमें2022तकतककेविस्तारकीयोजनायोजनाथी。इसमेंइसमेंपहलेसेहीनिर्मितकिएजाजारहेरहेरहेरहेनहींनहींनहींनहींनहींनहींनहींनहींनहींनहींहालांकिअंतिममसौदेमें90gwक्षमतावालेकोयलेसेसंबंधितबिजलीकाज़िक्रहै。“猫のकहनाहैकिआधारितउत्पादनउत्पादनलिएयोजनाओंठंडेबस्तेमेंसेकीनीतियांनीतियांकेडालनेसेकी1.5cकेअनुकूलहैं。

0000भारतकीबढ़तीकोयलेकीमांगसेसंबंधितअनुमानोंकोबारबारबदलाजातारहाहैऔरहालहीमेंकिएगएएकविश्लेषणमेंकहागयाथाकिकोयलेकेनएप्लांट्सकेअधिकत्तरप्रस्तावोंकोरद्दकियाजासकताहै。

印度梅加拉亚邦,按照大小和质量对煤炭进行分类。来源:国家地理图片收藏/ Alamy库存照片。EB4DH0

印度梅加拉亚邦,按照大小和质量对煤炭进行分类。来源:国家地理图片收藏/ Alamy库存照片。

भारतमेंकोयलेकेप्लांट्ससेस्वास्थ्यपरपड़नेवालेविपरीतअसरकोलेकरचिंताएंजताईजातीरहीहैं。हालहीमेंलैंसेटप्लैनटहेल्थद्वाराप्रकाशितएकरिपोर्टकेमुताबिक,भारतमेंहोनेवालीआठमेंसेएकमौतप्रदूषितहवाकेचलतेहोतीहै。ग़ौरतलबहैकिदुनियाके20सबसेप्रदूषितशहरोंमेंसेआधेभारतमेंहैं。सौरऊर्जाऔरबैटरीकेगिरतेदामोंकाइससेक्टरपरख़ासाअसरदेखाजारहाहै。

2015年में,भारतभारतनेकोयलाप्लांट्ससेफ़ैलनेवालेवायुप्रदूषणमद्देनज़रमद्देनज़रउत्सर्जनऐसेनएबनाएबनाएथेथेनएमानकबनाएथेथेऐसेनएमानकबनाएथेजानाऐसेनएमानकबनाएबनाएथेजानानएनएमानकबनाएबनाएजानापुरानेप्लांट्सकेलिएबनाएमानकोंमेंथोड़ीढिलाईबरतीगईहै。022

चीनकेबादभारतकोयलेकेनिर्माणऔरआयातकेमामलेमेंदुनियाकादूसरासबसेबड़ादेशहै。राष्ट्रीयकोयलाखननकंपनीऔरदुनियामेंसर्वाधिककोयलाखननकरनेवालीकंपनीकोलइंडियाघरेलूस्तरपरदेशको84%कोयलामुहैयाकरातीहै。भारतकेपास98बिलियनटनकाकोयलारिज़र्वहै,जोदुनियाकेपासमौजूदकोयलेका9.5%है。इसमामलेमेंभीचीनकेबादभारतकानंबरदूसराआताहै。

सरकारकोउम्मीदहैकिवोजल्दहीकोयलेकाआयातबंदकरदेगी。भारतकोयलेकाआयातइंडोनेशिया,दक्षिणअफ़्रीका,ऑस्ट्रेलियाजैसेदेशोंसेकरताहै।2019 - 20तकउसकालक्ष्यकोलइंडियाकेमाध्यमसे1000मीट्रिकटनकोयलाउत्पादनकरनेकाहै,जो2018 - 19केनिर्धारितलक्ष्य650मीट्रिकटनसेकहींज़्यादाहै。उम्मीदजताईजारहीहैकिइसलक्ष्यकोपानेकेलिएसमय——सीमाबढ़ाईजासकतीहै。

भारतकाकहनाहैकिविश्वनीय,मांगकीज़रूरतऔरसस्तीबिजलीकीआपूर्तिकेलिएकोयलेकाइस्तेमालकरनापड़ताहै,मगरउसनेअबअपनेकोयलेकेप्लांट्सकोऔरअधिकसक्षमऔरदक्षबनानेकीदिशामेंभीकदमउठाएहैं。

2010年में,भारतभारतकोयलासेस(कर)लागूलागूथा,जिसकेतहत2010से2018केबीचउसने12बिलियनडॉलरकिएकिएथेकिएकिएथेथे。उसेउम्मीदहै2019-20मेंवहएकबिलियनडॉलरऔरऔरकरलेगा。उल्लेखनीयउल्लेखनीयहैकिइसइससेक्टरकोउच्चदरदरहासिल,जो2016मेंकुल2.3बिलियनडॉलरथी。येसब्सिडीअधिकांशतयाअधिकांशतयाटैक्सब्रेकब्रेकरूपखननसेक्टरकोकोमुहैयाकराईजाती

भारतकेकुछराज्योंकोहासिलहोनेवालेकुलराजस्वकाआधाहिस्साकोयलेसेप्राप्तहोताहै。इसकासीधाअर्थहैकिवैकल्पिकस्त्रोतोंकोतलाशनेकेलिएऐसीनीतियांअपनानीहोंगी,जोकोयलामज़दूरोंकेहितोंमेंहों。रिपोर्टकेमुताबिक,भारतमेंइसपरकमहीचर्चाहोरहीहै。2015年हालांकिमें,भारतमेंबड़ेपैमानेपरव्यावसायिकप्रशिक्षणकार्यक्रमकीशुरुआतहोचुकीहै,जिसकेतहतयुवाओंकेलिएरोज़गारबढ़ानेकालक्ष्यरखागयाहै。इसकार्यक्रमकेतहतनवीनीकरणऊर्जाकेक्षेत्रमेंकाफ़ीध्यानदियाजारहाहै。

印度历史和计划煤炭电厂的互动地图

लो-कार्बनएनर्जी

नवीकरणीयऊर्जाकेकेक्षेत्रमेंमेंनेतेज़ीसेउल्लेखनीयउल्लेखनीयकदमउठाएउठाए2017年मेंमेंपहलीबारऐसाहुआकिनवीकरणीयऊर्जासंबंधीनिवेशऔरनईनेपारंपरिकईंधनकोकोछोड़छोड़हालांकि2017मेंमें11%बिजलीहीनवीकरणीयऊर्जासेहुईथी,जिसमेंबड़ेहाइड्रोसेप्राप्त9.5%बिजलीशामिलहै。

सौरऊर्जाकीलगातारगिरतीकीमतोंसेयेबातस्पष्टहोचलीहैकिबिजलीकावितरणकरनेवालेवितरकअबकोयलाआधारितबिजलीकेवितरणकोलेकरज़्यादाउत्साहितनहींहैं。ग्रिडमेंजैसे-जैसेनवीकरणीयऊर्जाकीपैठबढ़तीजाएगी,विभिन्नतरहकीआपूर्तिकेलिएस्मार्टग्रिडकोहासिलकरनेजैसीनीतियोंकोअपनानाआवश्यकहोजाएगा。

Gujarat Solar Park,在印度古吉拉特邦,2013年。它现在的装机容量为1637 MW。信用:阿什利库珀/ alamy股票照片。DRMTM7.

2013年,印度古吉拉特邦太阳能公园。它现在的装机容量是1637兆瓦。信用:阿什利库珀/ alamy股票照片。

इंटरनैशनलइंस्टिट्यूटऑफ़सस्टेनेबलडेवलेपमेंट(IISD)केमुताबिक,नवीकरणीयऊर्जाकोबढ़ावादेनेकेलिए2014में431मिलियनडॉलरकीसब्सिडीप्रदानकीगईथी,जो2016मेंबढ़ाकर1.4बिलियनडॉलरकरगई。IISDनेबतायाकिइसकीतुलनामें,20116मेंहीकोयला,तेलऔरगैसकोछहगुनासरकारीसमर्थनहासिलहुआ。

भारतनेनवीकरणीयऊर्जाकोबढ़ावादेनेकेलिए2003मेंअपनेबिजलीसंबंधीकानूनकाइस्तेमालकरनाशुरूकिया。2015मेंभारतनेनयालक्ष्यनिर्धारितकरतेहुए2022तक175GWकीनवीकरणीयऊर्जाकीस्थापनाकालक्ष्यरखा,जिसमें100GWसौर,60GWअपटीयपवन,10GWबायो-एनर्जीऔर5GWछोटेहाइड्रोपरियोजनाओंकाशुमारहै。कार्बनब्रीफ़द्वारापिछलेसाललिखेगएएकविशेषलेखकेमुताबिक,इससबसेतकरीबन70GWकोयलेकोरीप्लेसकियाजासकताहै。पारंपरिकईंधनऔरलो-कार्बनप्लांट्सकोमिलाकरभारतकीमौजूदाक्षमता350GWहै。

2018मेंभारतकेबिजलीमंत्रीराजकुमारसिंहनेकहाथाकिउन्हेंउम्मीदहैकिमार्च2020तकभार72 gwकत्षमतावालेसभीप्लांट्सकानिर्माणकरलेगायाफिरउन्हेंकमीशनकरलेगा。2018年सितंबरतकनवीकरणीयऊर्जाकीक्षमता72千瓦होचुकीथी。

राजकुमारसिंहनेयेभीकहाथाकिअबउनकेदेशकोउम्मीदहैकि2022तकउसे225千瓦नवीकरणीयऊर्जाहासिलहोजाएगी。हालांकियेलक्ष्यबड़ेहाइड्रोप्रोजेक्ट्सको”नवीकरणीय”होनेकादर्जादिएजानेकेचलतेभीहोसकताहै。भारतकेसबसेताज़ाNEPकाअनुमानहैकि2027तक275千瓦नवीकरणीयऊर्जासंबंधीप्लांट्सस्थापितकरलिएजाएंगे。

2016年मेंबदलीकीगईटैरिफ़नीतिमेंबिजलीवितरकोंऔरबिजलीइस्तेमालकरनेवालेकुछबड़ेयूज़र्सकेलिडनवीकरणीयस्त्रोतोंसेऊर्जाकाएकहिस्साखरीदनेकीव्यवस्थाकीगईहै。इसमेंसौरऔरपवनऊर्जाकोअंतर——राज्यीयट्रांसमीशनपरलगनेवालेकरोंसेमुक्तकरनेकीभीव्यवस्थाहै。

2010年भारतनेमेंअपनेनैशनलसोलारमिशन(राष्ट्रीयसौरमिशन)कोलॉन्चकियाथा,जोआठNAPCCमिशनमेंसेएकहै。इसकामूललक्ष्य2022तक20 gwसौरऊर्जाप्राप्तकरनाथामगर2015मेंइसलक्ष्यकोबढ़ाकर100千瓦करदियागया。इसमेंरूफ़टॉपसेहासिलहोनेवालीसौरऊर्जाकाहिस्सा40%रखागयाहै。

भारतकीयोजना2022तक2 gwऑफ़ग्रिडसौरऊर्जाहासिलकरनेकीहै,जिसमेंसेग्रामीणइलाकोंमें20मिलियनसौरसंचालितलाइट्सकीव्यवस्थाकरनाशामिलहै。

हालहीमेंभारतद्वाराUNFCCCकोसौंपीगईअपनीद्विवार्षिकरिपोर्टकेमुताबिक,अगस्त2018तक23GWसौरऊर्जासंबंधीप्लांट्सकोयातोस्थापितकरदियागयाथायाफिरइन्हेंकमीशनकरदियागयाथा。भारतदुनियाकेसबसेबड़ेसौरऊर्जासंबंधीपार्ककेनिर्माणमेंसंलग्नहै。

हालांकिकंसल्टेंसीफ़र्मवुडमेकेंज़ीकेअनुसार,सौरऊर्जापरबदलतीटैक्सदरोंसेपैदाहोनेवालीआर्थिकअस्थिरताऔरटैरिफ़परफिरसेकिएजानेवालेसमझौतेकेचलतेयेसंभवहैकिभारत100千瓦केअपनेलक्ष्यसेचूकजाए。

风在印度泰米尔纳德邦的涡轮康亚库玛瑞附近。信用:dbimages / Alamy图片社图片。AX6FAM.

风在印度泰米尔纳德邦的涡轮康亚库玛瑞附近。信用:dbimages / Alamy图片社图片。

पवनसेनिर्मितऊर्जाकेमामलेमेंदुनियामेंभारतकास्थानचौथाहै。पहलास्थानचीन,दूसराअमेरिकाऔरतीसरास्थानजर्मनीकाहै。2018年केमध्यतकभारतने34 gwअपटतीयपवनऊर्जाकेनिर्माणकीव्यवस्थाकरलीथी。2022年भारतकेलिएपवनऊर्जासंबंधीनिर्धारितकिएगएअपनेलक्ष्यतकपहुंचनेकेलिएनीलामीकासहारालेरहाहै。

भारतकीद्विवार्षिकरिपोर्टकेअनुसार,2014मेंसौरऊर्जाकीकीमतेंदो-तिहाईतककमहुईंहैंजबकिअपटतीयपवनसंबंधीऊर्जाकीकीमतआधीहोगईहै。

2022年भारततक5兆瓦और2030तक30 gwअपटतीयपवनऊर्जासंबंधीपरियोजनाओंकीस्थापनाकरनाचाहताहै。

द्विवार्षिकरिपोर्टकेमुताबिक,आर्थिकतौरपरफ़ायदेमंदसाबितहोनेवालेस्त्रोतोंसेजुड़ेभारतकेनवीकरणीयऊर्जाकीक्षमतातकरीबन1100千瓦है。इसमें300千瓦पवनऊर्जाऔर750千瓦सौरऊर्जाकासमावेशहै。क्लामेटचेंजइनिशिएटिव(CPI)केअनुसार,2030तकदेशकमकीमतवाले390千瓦पवनऔरसौरऊर्जानिर्माणकोअपनेऑफ़ग्रिडमेंसमाहितकरलेगा。

भारतकेजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधीप्रणमेंकहागयाहैकिभारतकी70%आबादीऊर्जाकेपारंपरिकस्त्रोतोंपरनिर्भरहै,जोअप्रभावीहोनेकेसाथ-साथआंतरिकतौरपरबड़ेपैमानेपरवायुप्रदूषणकाकारकभीहै。यहीवजहहैकिभारतअबबिजलीउत्पादनकेक्षेत्रमेंबायोमासकाइस्तेमालकररहाहैक्योंकिउसकेमुताबिक,येज़्यादास्वच्छभीहैऔरज़्यादाकुशलभीहैं。भारतकालक्ष्य2022तक10GWबायो-ऊर्जाहासिलकरनेकाहैऔरउल्लेखनीयहैकि2018तकइसमे9GWकीक्षमताहासिलकरलीहै。

भारतकेपासतकरीबन4.5 gwकेछोटेहाइडो(25 mvसेकमक्षमतावालेप्लांट्स)हैं,जो2022के5兆瓦केलक्ष्यसेकमहैं。अगरबड़ेहाइड्रोपरियोजनाओंकीबातकीजाए,तो2018मेंभारतकीक्षमता45兆瓦थीजबकि2005मेंयेमहज़30 gwथी。भारतद्वाराकिएगएप्रणमेंकहागयाहैकिउसकालक्ष्यदेशकीहाइड्रोपरियोनाओंकीविस्तृतसंभावनाओंकेविकासपरबेहदतेज़ीसेकामकरनेकाहै。

2015मेंलिएगएजलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणकेमुताबिक,भारतसरकारबिजलीकेस्त्रोतकेरूपमेंपरमाणुऊर्जाकोसुरक्षित,पर्यावरणकेलिएअनुकूलऔरआर्थिकरूपसेज़्यादासस्तामानतीहै。उसकीमौजूदाक्षमता6.8GWकीहैऔर2032तकवहइसमें9गुनाकीवृद्धियानि63GWकरनेकालक्ष्यरखताहै。ग़ौरतलबहैकिफ़िलहालदेशमेंपरमाणुऊर्जासेहोनेवालेनफ़ेऔरनुकसानकोलेकरएकबहसछिड़ीहुईहै。

भारत के पास दुनिया का सबसे बड़ा थोरियम रिज़र्व है- - - - - -जिसेमौजूदापरमाणुईंधनकेसुरक्षितविक्लपकेतौरपरदेखाजाताहै- - - - - -औरलम्बीअवधिकेएक्सपेरिमेंटलथोरियमरिएक्टर्समेंउसकीगहरीरूचिभीहैहालांकिअगरकभीइसकेउत्खननकीयोजनाबनाईभीजातीहैतोभीउसकेलिए2050सेपहलेऐसाकरनासंभवनहींहोगा

ऊर्जासंबंधीदक्षता

भारतहमेशासेअपनीऊर्जासंबंधीदक्षताऔरउत्सर्जनकीतीव्रताकोलेकरगर्वमहसूसकरतारहाहै。2001मेंभारतकेएनर्जीकंज़र्वेशनएक्ट(ऊर्जासंरक्षणकानून)द्वाराब्यूरोऑफ़एनर्जीएफ़ीशियंसीकीस्थापनाकीथी,जिसकामुख्यकामअर्थव्यवस्थाकीऊर्जासंबंधीतीव्रतामेंकमीलानाहै。

भारतकाकहनाहैअपनेद्वारानिर्धारितलक्ष्यकेमुताबिकवह2020तकउत्सर्जनकीतीव्रतामें20-25%तककीकमीलाकरउसे2005स्तरलानेकीकोशिशकरेगा。उसनेइसबातकोभीरेखांकितकियाहैकिकिसतरहसेअन्यदेशोंकेमुक़ाबलेभारतीयलोगऊर्जाकाकमइस्तेमालकरतेहैं。

2010年मेंभारतनेनैशनलमिशनफॉरएनहान्स्डएनर्जीएफ़ीशियंशी(NMEEE)कोलॉन्चकियाथा,जोNAPCCकेआठमिशनकाएकऔरएकहिस्साहै。इसकाउद्देश्यउपेक्षितबिजलीसंसाधनोंसे20 gwक्षमताकानिर्माणकरनाऔरहरसाल23मिट्रिकटनईंधनबचानाहै。

बाज़ारआधारितपरफॉर्म,अचीवऔरट्रेड(PAT)स्कीमउनकीसबसेमुख्ययोजनाबद्धपहलहै。इसकेज़रिएअधिकमात्रामेंबिजलीकीखपतवालेइंडस्ट्रीजैसेथर्मलपावरप्लांट्स,लोहावस्टीलऔरसीमेंटइंडस्ट्रीकाशुमारहै。इसक्षेत्रमेंअधिकउपलब्धिहासिलकरनेवालेलक्ष्यकोछूनेमेंअक्षमसाबितहुईंकंपनियोंकोअपनेऊर्जासंबंधीसर्टिफ़िकेटबेचसकतेहैं。

一字排开砖在阿姆利则,旁遮普邦,印度砖生产设备干燥。信用:古普里特·辛格/ Alamy图片社图片。JMWXEX

一字排开砖在阿姆利则,旁遮普邦,印度砖生产设备干燥。信用:古普里特·辛格/ Alamy图片社图片。

इसकेपहलेचक्रमें,वह2012से2015केबीचमें31 mtco2eकीबचतकरनेमेंकामयाबरहाथा。सरकारकाकहनाहैकियेउसकेद्वारामौजूदासमयमेंउसकेद्वारासालानाकिएजानेवाले1%उत्सर्जनकेबराबरहै。इसयोजनाकीतारीख़ोंकोआगेबढ़ायागयाहैताक़िज़्यादासेज़्यादासेक्टरकोइसमेंशामिलकियाजासके。

अन्यNMEEEयोजनाओंमेंअधिककारगरअप्लायंसेसकासमर्थनकरनाशामिलहै,जिसमेंसीलिंगफ़ैन्सआतेहैं。इसमेंऐसेफ़ाइनांसरोंकोबढ़ावादेनाभीशामिलहै,जोउर्जासंबंधीदक्षतामेंसंलग्नहों。इसकेअलावा,ऊर्जासंबंधीदक्षताकोऔरबढ़ावादेनेकेलिएपार्शियलरिस्कगारंटीऔरवेंचरकैपिटलजैसेउनकेफ़ाइनांशियलइंस्ट्रमेंट्सकाइस्तेमालकियाजानाभीशामिलहै。

भारतकेपासएकख़ासतरहकीरेटिंगसिस्टम——नैशनलस्मार्टग्रिडमिशनभीहै,जोइमारतोंकीऊर्जासंबंधीपरफॉर्मेंसकोपरखताहै。इसकेअतिरिक्त,छोटेउद्योगोंकेलिएभीएकरेटिंगसिस्टमबनाईगईहै,जोपर्यावरणकेअनुकूलउत्पादनकोबढ़ावादेताहै。

इसनेहालहीमेंजारीकिएगएएकनएएक्शनप्लानकेमुताबिक,भारतकाइरादाअपनीशीतलऊर्जाज़रूरतों(बिजलीकीमांगमेंतेज़ीलानेवालासबसेबड़ाकारक)में2038तक25 - 40%मेंकटौतीकरनाहै。इसीसालतकशीतलऊर्जासंबंधीमांगमेंभी25 - 30%तककीकटौतीकरनेकीभीयोजनाहै。

सरकारकालक्ष्य2019तकभारतके14मिलियनपारंपरिकस्ट्रीटलाइट्सकोएलईडीलाइट्समेंबदलनाहैसरकार सब्जिडी के ज़रिए भी एलईडी लाइट्स को घर- - - - - -घरघरमेंपहुंचानेकीकीकोशिशोंमेंजुटीहैऔरवहअब312मिलियनलाइट्सकावितरणकरचुकीचुकी

परिवहनप्रणाली

दुनियामेंसबसेज़्यादाकारोंकीबिक्रीकेमामलेमेंभारतकानंबरपांचवांहै。बढ़तीआमदनीऔरतेज़ीसेहोरहेशहरीकरणकेचलतेइसमेंऔरभीबढ़ोत्तरीकाअनुमानलगायाजारहाहै。इससेविश्वभरमेंतेलकीमांगबढ़नेकीभीआशंकाहै。

सरकारइलेक्ट्रिकवेहिकल्स(EVS)कोप्रमोटकररहीहै,हालांकिअभीभारतमेंऐसेवाहनोंकीसंख़्यामहज़2,60,000है,जिसमेंदोपहियावाहनोंऔरहायब्रीड्सकाशुमारहै。ग़ौरतलबहैकिवाहनोंकीकुलबिक्रीमेंसे电动汽车कीबिक्रीमहज0.6%होतीहै。इनकेलिएचार्जिंगस्टेशनबनानेकीगतिभीकाफ़ीधीमीहै。

भारतमें1.5मिलियनइलेक्ट्रिकरिक्शाभीमौजूदहैं,हालांकिइनकाइस्तेमालछोटीदूरियोंकेसफ़रकेलिएहीकियाजाताहै。

印度西孟加拉邦贾拜古里区查尔萨的Mangalbari bustee,载着村民的电动人力车。图片来源:Biswarup Ganguly / Alamy Stock Photo。R700AX

电动三轮车运载村民在Mangalbari bustee,Chalsa在印度西孟加拉邦的杰尔拜古里地区。图片来源:Biswarup Ganguly / Alamy Stock Photo。

2011年में,भारतनेनैशनलमिशनफॉरइलेक्ट्रिकमोबिलिटीकागठनकियाथा,जिसकाउद्देश्यइलेक्ट्रिकवेहिकल्स(EV)औरहायब्रिडकेनिर्माणकोबढ़ावादेनाहै。2017年मेंमौजूदाबिजलीमंत्रीपीयूषगोयलनेकहाथाकिउम्मीदहैकि2030तकपेट्रोलऔरडीज़लकारोंकीबिक्रीसमाप्तहोजाएगी。मगरफिरसरकारनेअपनेइसलक्ष्यसेजैसेहाथपीछेखींचलिएऔरअबउसेउम्मीदहैकि2030तककुलबिक्रीमेंसेEVsकीबिक्री30%तकहोजाएगी。सरकारकोइसबातकीभीउम्मीदहैकि2030तकसभीशहरीबसेंपूरीतरहसेइलेक्ट्रिकहोंगी。

2015年मेंभारतनेअपनी名声योजनालॉन्चकीथीताक़िवहइलेक्ट्रिकवहायब्रिडकार,मोपेड,रिक्शाऔरबसजैसेवाहनोंकोसब्सिडीदेसके。हालहीमेंइसमेंऔरबढ़ोत्तरीकरतेहुएभारतनेतीनसालकीअवधिमें1.4बिलियनडॉलरऔरजोड़नेकाऐलानकिया。1.2इसमेंसेबिलियनडॉलरसब्सिडीकेलिएहैं,तोवहीं140मिलियनडॉलरइंफ़्रास्ट्रक्चरकीचार्ज़िंगलिएहै。कईराज्योंनेभीEVsकासमर्थनकरनेकेलिएनिजीतौरपरकुछनीतिगतपहलकिएहैं。

भारतनेपैसेंजरवेहिकलईंधनसंबंधीदक्षतामानककोपहलीदफ़ा2014मेंमंज़ूरीदीथी。इसे2017年मेंपूरीतरहसेलागूकियागयाऔर2022मेंइससेसंबंधितनियमोंकोऔरकड़ाकियाजाएगा。तबभीयेनियमयूरोपियनयूनियन(EU)केमौजूदामानकोंसेकमकड़ेहोंगे。

भारतद्वारा2009मेंबनाईगईराष्ट्रीयबायो——ईंधननीतियानिनैशनलबायोफ़्यूल्सपॉलिसीकामहत्वाकांक्षीलक्ष्यथाकिवह2017तक20%बायो——ईंधनकोपेट्रोलऔरडीज़लमिक्समेंब्लेंडकरदे。उल्लेखनीयहैकिभारतअपनेइनलक्ष्योंकोपूराकरनेमेंनाकामरहाहै。2018年अभीतकवहमहज2%बायोईथानॉलऔरमहज़0.1%बायोडीज़लब्लेंडकरनेमेंसफलरहाहै。उसनेअपनीबायो——ईंधनपॉलिसीको2018मेंअपग्रेडकियाथा。2030年इसमेंतकबायोईथानॉलका20%ब्लेंडऔरबायोडीज़लके5%ब्लेंडकाप्रस्तावितहै。

रेलवेट्रैककीलम्बाईकेमामलेमेभारतीयरेलवेप्रणालीदुनियाकीचौथीसबसेबड़ीरेलप्रणालीहै。रेलवेकेज़रिएयात्राकरनेवालेसबसेज़्यादामुसाफ़िरोंकेमामलेमेंचीनकेबादभारतदूसरासबसेबड़ादेशहै。किसीभीअन्यदेशोंकेमुक़ाबलेइसमेंसबसेज़्यादाबढ़ोत्तरीहोगीऔर2015तकइसमेंतीनगुनातकवृद्धिहोगी。

भारतकेतकरीबनआधेपारंपरिकरेलवेट्रैकबिजलीसंपन्नहैं,जबकिउसकीपहलीहाईस्पीडलाइनकानिर्माणअभीजारीहै。ज़मीनकेरास्तेढोहेजानेवालेसामानमेंसेएकतिहाईभारकावहनरेलद्वाराकियाजाताहै,जोदुनियाकेमानकोंसेकहींज़्यादाहै。इसमेंजोचीज़रेलवेद्वारासबसेज़्यादाढोहीजातीहै,वहहैकोयला。

भारतकेजलवायुप्रणकेमुताबिक,उसकीयोजनाज़मीनसेढोहेजानेवालीकुलवस्तुओंमेंरेलवेकीहिस्सेदारीकोबढ़ाकर45%तककरनेकीहै,जिसमेंसामानकोढोहनेकेलिएएकसमर्पितकॉरिडोरकानिर्माणशामिलहै。

一运煤火车穿过印度斋浦尔站。信用:桑德拉·福伊特/ Alamy图片社图片。M4W32A

一运煤火车穿过印度斋浦尔站。信用:桑德拉·福伊特/ Alamy图片社图片。

2014में,दुनियाकेकुलउत्सर्जनमेंभारतीयएविशनइंडस्ट्रीकायोगदानमहज़1%था,जोकिविश्वऔसतसेबेहदकमथा。मगरएविशनइंडस्ट्रीकेतेज़ीसेहोरहेविस्तारकेचलतेइसमेंवृद्धिकीआशंकाहै。घरेलूएविशनमार्केटकेविस्तारकेमामलेमेंभारतदुनियाकासबसेतेज़ीसेबढ़ताबाज़ारहै。महज़पिछलेसालहीइसमें19%कीबढ़ोत्तरीदेखीगई。भारतकालक्ष्यअगले10-15सालोंमें100नएहवाईअड्डेबनानेकाहै。इसतरहसे2020तकभारतविश्वकातीसरासबसेबड़ाएविएशनमार्केटबनजाएगा。2010सेलेकरअबतकघरेलूऔरअंतर्राष्ट्रीयदोनोंतरहकीउड़ानोंमेंमुसाफ़िरोंकीसंख्यादोगुनीहोगईहैऔर2037तकइसके520मिलियनहोकरतीनगुनातकबढ़जानेकाअनुमानहै。

भारत联合国एविएशनएमिशनऑफ़सेटस्कीम,कोरसियाकासदस्यहै,हालांकिउसने2021मेंशुरूहोनेवालेवॉलंटरीपायलटफ़ैज़केलिएअभीतकहामीनहींभरीहै。

जलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणमेंभारतनेतटीयशिपिंगऔरइनलैंडवॉटरट्रांसपोर्टकोबढ़ावादेनेकीयोजनाओंकोरेखांकितकियाहै。इसकीमुख्यवजहउनकीईंधनदक्षताऔरतुलनात्मकतौरपरसस्ताहोनाहै。

तेलऔरगैस

भारत बड़े पैमाने पर तेल पर निर्भर देश है。2017年मेंउसकीकुलऊर्जाखपतमेंसेतेलकीहिस्सेदारी29%थी。उसकीतेलकीज़रूरतोंमेंतेज़ीसेइज़ाफ़ाहोरहाहै,जिसके2040तकबढ़करदोगुनाहोजानेकाअनुमानहै。इसकामतलबयेहुआकिभारतघरेलूस्तरपरतेलकीबढ़तीमांगकेमामलेमेंचीनकोभीपीछेछोड़देगाऔरदुनियामेंतेलकीबढ़तीज़रूरतोंकेमद्देनज़रभारतअव्वलसाबितहोगा。ग़ौरतलबहैकिख़ुदभारतकीतेलउत्पादनक्षमतामेंगिरावटदेखीजारहीहै。

भारतद्वारातेलऔरगैसदोनोंकोबड़ेपैमानेपरउपभोक्तासब्सिडीमुहैयाकराईहुईहै。उल्लेखनीयहैकि2014और2016केबीचइससब्सिडीमेंलगभग75%तककीकमीयानिसब्सिडीमें6.58बिलियनडॉलरकीकटौतीकीगई。इसकीमुख्यवजहेंउदारीकरणकीनीतियांऔरतेलकीगिरतीकीमतेंहैं。आर्थिक सुधार की प्रक्रिया अब भीट जारी है。

उदाहरणकेलिएहालहीभारतद्वाराशुरूकिएगए“छोड़दो”यानि“गिवइटअप”अभियानकेचलतेबड़ेपैमानेपरसमक्षलोगोंनेस्वयंभूतरीकेसेअपनेएलपीजीकुकिंगगैसपरमिलनेवालीसब्सिडीकोछोड़दियाथा。

भारतमेंकिरासिनतेलकोबड़ेपैमानेपरखानापकानेऔरबिजलीकेउद्देश्योंसेइस्तेमालकियाजाताहै。ऐसेमेंकिरासिनकीकीमतोंमेंबदलावसेबिजलीसेवंचितलोगोंपरइसकाख़ासाअसरपड़ेगा。

डीज़लकीखपतमेंऔरभीवृद्धिकाअनुमानहै,जिसमेंसरकारद्वारासड़कनिर्माणकीपरियोजनाओंपरकिएजानेखर्चकाख़ासायोगदानहै。

भारतकीऊर्जाऊर्जाखपतमेंमेंकीभूमिकाज़्यादाअहमअहमनहींरहीरही2017मेंकुलऊर्जाखपतकेमामलेगैसकीहिस्सेदारीमहज़6%रहीहै。भारतभारतअपनीआधीगैसकीज़रूरतोंकाआयात,अमेरिका,ऑस्ट्रेलियाऔररूससेकरता。

ग़ौरतलबहैकिभारतमेंगैसकीखपतमेंबढ़ोत्तरीहोरहीहै。गैसकेऊंचेदामोंकामतलबहैकिवोकोयलाऔरईंधनतेलसेमुकाबलाकरनेमेंफ़िलहालसक्षमनहींहै。भारतकीयोजनाहैकिवह2022तकअपनीऊर्जाखपतमेंगैसकीहिस्सेदारी15%。तकबढ़ादे。इससंबंधमेंभारतकाकहनाहैकिइसेस्वच्छईंधनकेतौरपरअपनानेसेकईतरहकेपर्यावरणीयलाभहोंगे。तेलकेमामलेमेंभारतकाघरेलूउत्पादनकाफ़ीकमहैऔरवहअपनीज़रूरतोंकेलिएबड़ेपैमानेपरआयातपरनिर्भररहताहै。हालांकिघरेलूस्तरपरगैसऔरतेलकेरिज़र्वकेमामलेमेंभारतकीसंभावनाएंकाफ़ीअच्छीहैं。

हालहीमेंसंसदीयदलनेअपनीरिपोर्टमेंकहाथाकि25GWसेभीज़्यादागैससंबंधीपावरप्लांटघरेलूस्तरपरगैसकीकमीऔरउसेआयातकरनेकेऊंचेदामोंकेवजहसेठपपड़ेहुएहैं。स्टैटिजिकऑयलरिज़र्वकीतरहहीगैसकेमामलेमेंभीभारतको“आपातभंडार”केतौरपरदेखाजाताहै。

कृषीऔरवन

भारतकेकुलGHGउत्सर्जनमेंखेतीकायोगदानलगभग16%है。इसमेंसे74%उत्सर्जनकेलिएमवेशियों——ख़ासकरगायोंऔरभैंसों——केइस्तेमालसेपैदाहोनेवालीमिथेनऔरचावलकीखेतीज़िम्मेदारहै。बाक़ी26%उत्सर्जनकीबड़ीवजहकीटनाशकसेनिकलनेवालीनाइट्रसऑक्साइडगैसहै。

工人稻田,克什米尔,印度。信用:robertharding / Alamy图片社图片。B5A3T8

工人稻田,克什米尔,印度。信用:robertharding / Alamy图片社图片。

भारतकीतकरीबनदो-तिहाईआबादीअपनीआजीविकाकेलिएखेतीपरनिर्भरहै。दुनियामेंकुलजानवरोंकी15%आबादीभारतमेंहै。2014तकभारतमेंगायोंऔरभैंसोंकीसंख्या300मिलियनथी。दुनियाकेकुलदूधका19%उत्पादनभारतमेंहोताहै。

भारतकेजलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणकेमुताबिक,बढ़तीआबादीकेमद्देनज़रउसेअनाज़उत्पादनमेंतेज़ीलानीहोगी。उसकेअनुसार,मगरबार——बारपड़नेवालेसूखेकीमारऔरबाढ़सेपैदाहोनेवालेहालातोंसेखेतीपरमौसमकेबदलतेमिजाज़काविपरीतअसरहोताहै。

NAPCCकेआठमिशनमेंएकऔरमिशनयानिभारतकानैशनलमिशनफॉरसस्टेनेबलअग्रीकल्चर(NMSA)कालक्ष्यखेतीसेपैदाहोनेवालेउत्सर्जनकोकाबूमेंरखनाऔरखाद्यसुरक्षाकोबढ़ावादेनाहै。

2015年मेंमेंशुरूकीयोजनाकेतहतयूरियापरनीमकीकोटिंगअनिवार्यकरदियागयाथाताक़िताक़िकाउत्सर्जनकमकमनाइट्रसकाउत्सर्जनकमहो

सिंचाईकेलिएबड़ेपैमानेपरइस्तेमालकिएजानेवालेअक्षमकिस्मकेवॉटरपम्पखेतीकेलिएहोनेवालीकुलऊर्जाखपतका70%ज़िम्मेदारहैं。भारतनेअबतक200000औरपम्पइंस्टॉलकिएहैं,जोदेशके21मिलियनकामहज़1%है,जबकिउसकीयोजनाऐसे2.5मिलियनऔरसौरपम्पलगानेकीहै。

जलवायुपरिवर्तनसंबंधीभारतकेप्रणकेमुताबिक,हालकेसालोंमेंउसकेवनआवरणमेंवृद्धिहुईहै,जिससेवोनेटCO2सिंककेरूपमेंस्थापितहोताहै。हालहीमेंकिएगएएकअध्ययनकेअनुसार,2000से2017केकेबीचमेंमेंदुनियादुनियाहरितक्षेत्रहुईबढ़ोत्तरीमेंभारतभारतहिस्सेदारीहिस्सेदारीहुईबढ़ोत्तरीमेंभारतहिस्सेदारीहिस्सेदारीहिस्सेदारीहिस्सेदारीरहीरहीहिस्सेदारीहिस्सेदारीतकरहीरही

भारतकीदूरदर्शीयोजनाहैकिउसकेकुलक्षेत्रफलका33%यानि109मिलियनहेक्टरहिस्सावनआवरणकेतहतआजाए。2013मेंये79मिलियनहेक्टरयानिइसकीहिस्सेदारी24%थी。

印度拉贾斯坦邦阿布山附近的一群印度奶牛。图片来源:Kailash Kumar / Alamy Stock Photo。PG4NFB

印度拉贾斯坦邦阿布山附近的一群印度奶牛。图片来源:Kailash Kumar / Alamy Stock Photo。

उसकादूसरालक्ष्य2030तकतकअतिरिक्तवनऔरपेड़ोंकेआवरणके2500-3000mtco2कोकोकरनाहै。猫केमुताबिक,इसकेआधेसेअधिकलक्ष्योंको2014मेंलॉन्चकिएगएग्रीनइंडियाकीमददसेहासिलकियाजाजासकतासकताइसमिशनकामकसदवनआवरणमें5मिलियनहेक्टरकीबढ़ोत्तरीकरनाहैऔरइसकेअलावाअगले10सालोंमेंपहलेसेमौजूदऔर5मिलियनहेक्टरकेवनआवरणमेंगुणात्मकबदलावलानाहै。भारतसरकारअपनेराज्योंकोआवरणमेंबढ़ोत्तरीकेप्रेरितकरतीऔरउसकेमुताबिकआर्थिकसहायतासहायताहैहै。

हालांकिकईजानकारोंकामानना​​हैकिवनआवरणसेसंबंधितभारतकेआंकड़ेबढ़ा-चढ़ाकरपेशकिएगएहैंऔरइनआंकड़ोंकोतेज़ीसेहोरहीवनोंकीकटाईकेढालकेतौरपरपेशकियाजारहाहै。

प्रभावऔरअनुकूलबदलाव

भारतने2015केजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधीप्रणकाज़्यादातरहिस्सादेशमेंअसरऔरभविष्यमेंहोनेवालेविपरीतकोरेखांकितरेखांकितमेंलगायाहैहै:

“जलवायुपरिवर्तनकेलिहाज़सेभारतकीगिनतीउनचुनिंदादेशोंमेंहोतीहै,जिसपरइसकासबसेज़्यादाविपरीतअसरहोगा,जिसकीअधिकतरआबादीकृषिआधारितअर्थव्यवस्था,विस्तृततटीयइलाकों,हिमालयीइलाकोंऔरद्वीपोंपरनिर्भरहै。”

इसीतरहउसनेअपनीद्विवार्षिकरिपोर्टमेंइसबातकीओरइंगितकियाहैकिबाढ़,सूखेऔरतूफ़ानजैसीप्राकृतिकआपदाओंकेमामलोंमेंवहबेहदसंवेदनशीलहै。इनसेबढ़तेखतरेकाअसरउनइलाकोंकीजनसंख्याऔरसामाजिक-आर्थिकस्थितिपरनिर्भरकरताहै。

1850सेलेकरअबतकभारतकेसालानातापमानमेंकरीब1.0Cकीवृद्धिहोचुकीहै。

वर्ल्डबैंकद्वाराकिएगएएकअध्ययनकेमुताबिक,2050तकभारतको1.2ट्रिलियनडॉलरका”जीडीपीघाटा”होसकताहै。इसकेअलावा,अगरजलवायुपरिवर्तनसेपहलेकेहालातोंसेतुलनाकरें,तो2050तकउसकीआधीआबादीकेजीवनस्तरमेंऔरगिरावटदेखीजासकतीहै。अध्ययनकेअनुसार,इसनुकसानकाकारणबढ़तातापमानऔरमॉनसूनमेंहोनेवालीबारिशकाबार——बारबदलतामिजाज़होगा。

印度河流经喜马拉雅山拉达克范围。图片来源:Parvesh Jain / Alamy Stock Photo。mmhb4g.

印度河流经喜马拉雅山拉达克范围。
图片来源:Parvesh Jain / Alamy Stock Photo。

00इसक्षेत्रमेंरहनेवालेतकरीबन250मिलियनलोगोंकेलिएयहांग्लेशियरपानीकेमुख्यस्त्रोतहैं。00

इससालजारीकीगईएकमहत्वपूर्णरिपोर्टमेंइसबातकादावाकियागयाहैकिबढ़तेतापमानकेचलते2100तकइसइलाकोंकेग्लेशियरकाएकतिहाईहिस्सापिघलजाएगा。विश्व का तापमान 1.5c。तक सीमित रहा, तब भी ऐसा होने की आशंका बनी रहेगी。भारतजलसेपैदाहोनावालेमलेरियाऔरडेंगूजैसीबीमारियोंकेमामलोंमेंबढ़ोत्तरीकेप्रतिभीकाफ़ीसंवेदनशीलहै。जलवायुपरिवर्तनकेचलतेइनदोनोंबीमारियोंमेंख़ासीवृद्धिदेखीजासकतीहै。

गर्मियोंमेंचलनेवालीलूसेभीदेशकीएकबड़ीआबादीकोखतराहै。बतादेंभारतमें600मिलियनलोगऐसेइलाकोंकोमेंरहतेहैंजो2050तकबढ़तेतापमानसेपैदाहोनेवालीगर्महवाओंकेहिसाबसेमध्यमअथवाकठोरकिस्मकेइलाकोंमेंतब्दीलहोजाएंगे。लांसेन्टकाउंटडाउंनऑनहेल्थऐंडक्लाइमेटचेंजकीएकरिपोर्टकेअनुसार,2017मेंबड़ेपैमानेपरखेत——खलिहानोंमेंकामकरनेवालेमज़दूरअत्याधिकगर्मीकाशिकारहुएथे。

भारतकेसमुद्रीस्तरमेंबढ़ोत्तरीहोसकतीहै。इससेनदीजलप्रणालियोंपरअसरपड़सकताहै,जिससेइनपरनिर्भरकरोड़ोंलोगोंकीआजीविकाप्रभावितहोसकतीहैं。भारतके1238द्वीपभीखतरेमेंहैं。

देशकाआपदाप्रबंधनकानून2005मेंलागूकियागयाथा。इसमेंजलवायुपरिवर्तनकोज़्यादातवज्जोनहींदीगईथी,मगरइसमें”रेस्पॉन्सऔररिलीफ़”अप्रोचयानि”प्रतिसादऔरराहत”सेआगेबढ़कर”प्रीवेंशन,मिटिगेशनऔरप्रीपेडनेस”यानि”निवारण,शमनऔरतत्परता”काज़िक्रकियागयाहै。2016年मेंभारतनेआपदाप्रबंधनयोजनाकोलागूकिया,जोपेरिससमझौतेऔरदुनियाकेअन्यआपदाकेखतरोंमेंकटौतीसेसंबंधितढांचेकेमुताबिकबनायागयाहै。

भारतनेNAPCCकेआठमिशनमेंसेएकमिशनको,हिमालयकेपारिस्थितिकीयतंत्रकोबचानेकेलिएसमर्पितकियाहै。इसकेदोअन्यमिशनजलऔरशोधएवंविकासपरकेंद्रितहैं。

联合国气候变化框架公约》केतहतजारीकीगईनैशनलकम्युनिकेशनकीसबसेताज़ारिपोर्ट2012मेंसौंपीगयीथी。इसमेंसंवेदनशीलताकाआंकलनऔरसंबंधितबदलावकोरेखांकितकियागयाथा。

जलवायु परिवर्तन संबंधी आर्थिक सहायता

भारतकाफ़ीपहलेसेजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधितआर्थिकसहायताऔरविकसितदेशोंसेविकासशीलदेशोंकोटेक्नोलॉजीकेट्रांसफ़रपरज़ोरदेताआयाहै。उसकेजलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणकेमुताबिक:

“विकासकीप्रक्रियाकेदौरानउत्सर्जनमेंकमीकोलेकरहमारेप्रयासोंकासंबंधपैसोंकीउपलब्धताऔरअंतर्राष्ट्रीयस्तरपरहमेंमिलनेवालीआर्थिकसहायताऔरटेक्नोलॉजीट्रांसफ़रसेहैक्योंकिभारतमेंविकासकीचुनौतियांअभीभीकाफ़ीजटिलहैं。”

भारतकाकहनाहैकिउसेअपनेजलवायुपरिवर्तनसंबंधीप्रणपरअमलकरनेलिए2.5ट्रिलियनडॉलरकीआवश्यकतापड़ेगी,जोसभीविकासशीलदेशोंद्वारामिलाकरकिएजानेवालेज़रूरीखर्चका71%है。

कार्बनब्रीफ़केविश्लेषणसेयेबातसामनेआईकिभारतएकऐसादेशहैजिसेसिंगलकंट्रीफ़ंडी(725मिलियन)केतौरपरसबसेज़्यादाधनराशिप्राप्तहुई,जिसेमल्टीलैटरलक्लाइमेटफ़ंडकिमान्यताकेबादसमग्रशर्तोंकेसाथमंज़ूरकियागयाथा。ज़्यादातरधनराशिक्लीनटेक्नोलॉजीफ़ंड(CTF)द्वारानवीकरणीयपरियोजनाओंकेलिएउपलब्धकराईगईथी。अगरइसेप्रतिव्यक्तिकोमिलिफ़ंडिंगकेतौरपरदेखाजाए,तोयेमहज़0.60डॉलरहै,जोकितुलनात्मकतौरपरकमहै。

2017年7月7日,季风袭击印度加尔各答。图片来源:Dipayan Bose / Alamy Stock Photo。JTYWCR

2017年7月7日,季风给印度加尔各答带来洪水。图片来源:Dipayan Bose / Alamy Stock Photo。

हुई。

भारतनेघरेलूस्तरपरभीजलवायुपरिवर्तनसेसंबंधीआर्थिकपहलकीहैराष्ट्रीयस्तरपरअपनेआठलक्ष्योंकेलिएखर्चकिएजानेवालेपैसोंकेअलावाउसकेद्वारालगाएगएकोयलासेससेउसेअब12 बिलियन डॉलर हासिल हुए हैंपूरीतरहतोनहींमगरमगरइनपैसोंकाकाइस्तेमालस्वच्छऊर्जाकेलक्ष्यकोप्राप्तकरनेलिएकियाजारहारहागोदलीगईकईयोजनाओंकोभीसराकरीफ़ंडिंगमिलरहीहै

मूल अंग्रेज़ी आलेख के लिए这里देखें。नीचेनीचेदिएगएलिंक्सलिंक्सकेसाथपूरापूरा

अनुवाद -拉维·杰恩

来自这个故事的Sharelines
  • द कार्बन ब्रीफ़ प्रोफ़ाइल: भारत
  • कार्बनब्रीफ़द्वाराभारतकाजलवायुपरिवर्तनऔरऊर्जाप्रोफ़ाइल

短暂的

专家分析直接到您的收件箱。

通过电子邮件获取由Carbon Brief选择的所有重要文章和论文的每日或每周综述。必威手机官网通过输入您的电子邮件地址,您同意您的数据将按照我们的隐私政策

短暂的

专家分析直接到您的收件箱。

通过电子邮件获取由Carbon Brief选择的所有重要文章和论文的每日或每周综述。必威手机官网通过输入您的电子邮件地址,您同意您的数据将按照我们的隐私政策